Share On

भारत ने जीता टास, पहले फिल्डिंग का लिया निर्णय

  • 18/06/2017

स्पोर्ट्स डेस्क,18 जून। चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले की शुरूआत भारत के लिए गुडलक लेकर आयी और भारत ने इसकी शुरूआत टास जीतकर की है। हाई वोल्‍टेज मैच में भारत ने पहले टास जीता और पहले फिल्डिंग करने का निर्णय लिया है। मैच में टीम इंडिया जीत की दावेदार मानी जा रही है। ऐसा इसलिए क्योंकि लीग मैच में भारत पाकिस्तान को करारी शिकस्त दे चुका है। चैम्पियंस ट्रॉफी में दोनों टीमों का जीत-हार का रिकॉर्ड 2-2 है। 10 साल बाद किसी फाइनल में भारत-पाक फिर आमने-सामने हैं। 2007 में टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में भारत ने पाक को हराया था। वहीं, 1992 से 2017 तक आईसीसी के टूर्नामेंट में दोनों टीमें 15 बार आमने-सामने आ चुकी हैं, जिसमें 13 बार भारत जीता। 25 साल बाद भारत-पाक रविवार को 16वीं बार आमने-सामने होंगे। विराट कोहली इस वक्त जबरदस्त फॉर्म में हैं। बांग्लादेश के खिलाफ पिछले मैच में उन्होंने 96 रन का नॉटआउट इनिंग खेली। यदि वो इस मैच में सेन्चुरी लगा देते हैं तो पाकिस्तान के खिलाफ सबसे ज्यादा सेन्चुरी लगाने वाले दूसरे इंडियन बन जाएंगे। अभी विराट पाकिस्तान के खिलाफ 2 सेन्चुरी लगा चुके हैं और सिद्धू, धोनी, सहवाग, गांगुली, द्रविड़ और अजहर के बराबर हैं। इन सभी ने पाकिस्तान के खिलाफ 2 सेन्चुरी लगाई हैं। रिकॉर्ड सचिन तेंडुलकर के नाम है। सचिन ने पाकिस्तान के खिलाफ सबसे ज्यादा 5 सेन्चुरी लगाई हैं। वहीं युवराज पाकिस्तान के खिलाफ चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में खेलने के साथ ही ये खास रिकॉर्ड बना देंगे। युवराज इससे पहले तक आस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग और श्रीलंकाई जोड़ी कुमार संगकारा तथा महेला जयवर्धने की बराबरी पर थे, जिन्होंने छह-छह बार आईसीसी टूर्नामेंट्स के फाइनल खेले थे। युवराज ने अपने करियर की शुरुआत साल 2000 में चैम्पियंस ट्रॉफी से ही की थी। तब टीम इंडिया फाइनल में पहुंची थी। वो 2002 में चैम्पियंस ट्राफी में संयुक्त रूप से विजेता रही भारतीय टीम में भी शामिल थे। इसके अलावा युवी 2003 वर्ल्ड कप फाइनल, 2007 टी20 वर्ल्ड कप फाइनल, 2011 वर्ल्ड कप फाइनल, 2014 टी20 वर्ल्ड कप फाइनल खेल चुके हैं।