Share On

वेस्‍टइंडीज ने चौथे वन डे मैच में भारत को 11 रन से हराया

  • 03/07/2017

स्पोर्ट्स डेस्क,3 जुलाई। वेस्ट इंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज के चौथे मैच में भारतीय टीम 11 रन से मैच हार गई। इस मैच में भारतीय गेंदबाजों ने तो अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन बल्‍ल्‍ोबाजों की लापरवाही से टीम हार गई। एक वक्त पर भारत को जीत के लिए 18 बॉल पर 19 रन की जरूरत थी और भारत की जीत तय लग रही थी। लेकिन थोड़ी ही देर में मैच पलट गया। पांच मैचों की वनडे सीरीज में फिलहाल भारत 2-1 से आगे है। सीरीज का आखिरी मैच गुरुवार को किंग्सटन में होगा। ऐसा रहा मैच का मैच में टॉस जीतकर विंडीज की टीम ने पहले बैटिंग का फैसला किया। पहले विकेट के लिए 57 रन जुड़े। हालांकि, इसके बाद थोड़ी-थोड़ी देर में विकेट गिरते रहे। विंडीज की टीम ने पहले खेलते हुए 50 ओवरों में 9 विकेट पर 189 रन बनाए। जिसमें लुईस और काइल होप ने 35-35 रन बनाए। तो वहीं शाई होप ने 25 तो रोस्टन चेज ने 24 रन की इनिंग खेली। भारत की ओर से हार्दिक पंड्या और उमेश यादव ने 3-3 विकेट लिए, वहीं कुलदीप को 2 विकेट मिले। मेजबान टीम ने काफी प्रेशर में बैटिंग की। विंडीज की इनिंग के दौरान आखिरी 83 बॉल पर कोई बाउंड्री नहीं लगी। विंडीज की ओर से आखिरी चौका 36वें ओवर में लगा था। जवाब में टारगेट का पीछा करने उतरी भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही और 10 रन पर ही पहला विकेट गिर गया, फिर धीरे-धीरे विकेट गिरते रहे और पूरी टीम 49.4 ओवर में 178 रन पर आउट हो गई। भारत के तीन टॉप ऑर्डर बैट्समैन सिर्फ 10 रन ही बना सके। विंडीज के लिए कप्तान जेसन होल्डर ने 9.4 ओवर में 27 रन देकर 5 विकेट लिए। अल्जारी जोसेफ को 2 विकेट मिले। वहीं केसरिक, बिशू और नर्स ने 1-1 विकेट लिया। होल्डर को उनकी शानदार बॉलिंग के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। मैच में एमएस धोनी ने काफी धीमी बैटिंग की। वे 114 बॉल पर सिर्फ 54 रन बनाकर आउट हो गए। उन्होंने अपने 50 रन 108 बॉल पर पूरे किए, जो कि उनके वनडे करियर की सबसे धीमी फिफ्टी रही। मैच में धोनी की स्लो बैटिंग का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अपनी इनिंग के दौरान उन्होंने केवल 1 चौका ही लगाया। धोनी ने रहाणे के साथ मिलकर चौथे विकेट के लिए बेहद धीमी बैटिंग करते हुए 109 बॉल पर 54 रन की पार्टनरशिप की। दोनों बैट्समैन ने प्रतिओवर सिर्फ 2.97 रन बनाए। वहीं छठे विकेट के लिए पंड्या के साथ मिलकर 57 बॉल पर 43 रन जोड़े। इस दौरान भी रनरेट 4.52 ही रहा। आखिरी दो ओवर में भारत को जीत के लिए 16 रन बनाने थे। इस दौरान क्रीज पर धोनी मौजूद थे, इसलिए किसी को नहीं लग रहा था कि टीम हार जाएगी। वहीं जब आखिरी ओवरों में रनरेट तेज करने की बारी आई, तो वे केसरिक विलियम्स की बॉल पर जोसेफ के हाथों कैच आउट हो गए। 49वें ओवर की आखिरी बॉल पर बड़ा शॉट मारने की कोशिश में धोनी आउट हो गए। इसके बाद भारत की जीत की उम्मीदें भी खत्म हो गईं। मैच में लगाई फिफ्टी धोनी के एक दिवसीय करियर की 64वीं फिफ्टी रही। वहीं वेस्ट इंडीज के खिलाफ ये उनकी सातवीं फिफ्टी रही।