Share On

श्रीलंका की पहली पारी 291 पर सिमटी, भारत की दूसरी पाली लड़खड़ायी

  • 28/07/2017

गाले,28 जुलाई। श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में तीसरे दिन भारत ने अपनी दूसरी इनिंग में 2 विकेट खोकर 105 रन बना लिए हैं। अभिनव मुकुंद (41) और विराट कोहली (35) क्रीज पर हैं। इससे पहले भारत के 600 रन के जवाब में श्रीलंका की फर्स्ट इनिंग 291 रन पर सिमट गई। पहली इनिंग में मेहमान टीम को 309 रन की लीड मिली, लेकिन इसके बाद भी उसने श्रीलंका को फॉलोऑन नहीं दिया। दूसरी इनिंग में भारत की शुरुआत खराब रही और चौथे ओवर में 19 के स्कोर पर ही पहला विकेट गिर गया। 3.6 ओवर में दिलरुवान परेरा की बॉल पर शिखर धवन (14) को दानुष्का ने कैच कर लिया। इसके बाद बैटिंग करने आए चेतेश्वर पुजारा (15) भी क्रीज पर ज्यादा नहीं रूके और 16.5 ओवर में लाहिरू कुमारा की बॉल पर कुसल मेंडिस को कैच देकर आउट हो गए। इसके पहले श्रीलंका ने मैच के तीसरे दिन श्रीलंका ने गुरुवार के अपने स्कोर 154/5 रन से आगे खेलना शुरू किया और उसकी पूरी टीम 291 रन पर सिमट गई। मेजबान टीम ने 78.3 ओवर में 9 विकेट खोकर इतने रन बनाए। आखिरी बैट्समैन असेला गुणारत्ने चोटिल होने की वजह से बैटिंग करने नहीं आए। वे सीरीज से बाहर हो चुके हैं। पहली इनिंग में भारत को 309 रन की बढ़त मिली लेकिन इसके बाद भी उसने श्रीलंका को फॉलोऑन नहीं दिया। श्रीलंका की ओर से दिलरुवान परेरा ने सबसे ज्यादा 92* रन बनाए। इसके अलावा एंजेलो मैथ्यूज ने 83 और उपुल थरंगा ने 64 रन की इनिंग खेली थी। भारत की ओर से रवींद्र जडेजा सबसे सफल रहे जिन्होंने 3/67 विकेट लिए, इसके अलावा शमी को 2/45 और यादव, जडेजा और पंडया को 1-1 विकेट मिला। मैच के तीसरे दिन रवींद्र जडेजा ने एंजेलो मैथ्यूज (83) को आउट करके श्रीलंका को छठा झटका दिया। 58.5 ओवर में जडेजा की बॉल पर मैथ्यूज को विराट ने कैच कर लिया। सातवां विकेट भी रवींद्र जडेजा को मिला। जब 66.2 ओवर में उन्होंने श्रीलंका के कप्तान रंगना हेराथ (9) को अंजिक्य रहाणे के हाथों कैच करा दिया। हार्दिक पंड्या ने नुवान प्रदीप (10) को आउट करते हुए आठवां विकेट गिराया। इस वक्त टीम का स्कोर 280 रन था। नौवां और आखिरी विकेट लाहिरू कुमारा (2) का रहा। जो 78.3 ओवर में रवींद्र जडेजा की बॉल पर बोल्ड हो गए। श्रीलंका की ओर से दिलरुवान परेरा और एंजेलो मैथ्यूज ने सबसे ज्यादा रन बनाए। जिसमें दिलरुवान ने 92* तो वहीं मैथ्यूज ने 83 रन बनाए। परेरा ने 132 बॉल की अपनी इनिंग में 10 चौके और 4 सिक्स भी लगाए। ये उनके टेस्ट करियर की पांचवीं फिफ्टी रही। मैथ्यूज ने 130 बॉल की अपनी इनिंग में उन्होंने 11 चौके और 1 सिक्स भी लगाया। ये उनके टेस्ट करियर की 27वीं फिफ्टी रही। पहली इनिंग में श्रीलंका की शुरुआत बेहद खराब रही और दूसरे ही ओवर में पहला विकेट गिर गया। 1.5 ओवर में उमेश यादव ने दिमुथ करुणारत्ने (2) को lbw करते हुए श्रीलंका को पहला झटका दिया। 15वें ओवर में दो विकेट गिरे। 14.2 ओवर में 68 के स्कोर पर शमी की बॉल पर शिखर धवन ने गुणाथिलके (16) को कैच कर लिया। इसके बाद इसी ओवर की आखिरी बॉल पर कुशल मेंडिस (0) भी शिखर धवन को कैच दे बैठे। चौथे विकेट के लिए भारतीय टीम को थोड़ा इंतजार करना पड़ा। फिफ्टी लगाकर खेल रहे उपुल थरंगा (64), 33.6 ओवर में रन आउट हो गए। इस वक्त टीम का स्कोर 125 रन था। आउट होने से पहले थरंगा ने मैथ्यूज के साथ मिलकर 57 रन की पार्टनरशिप की। अगले बैट्समैन रोशन डिकवेला (8) भी कुछ खास नहीं कर सके और 39.2 ओवर में अश्विन की बॉल पर मुकुंद को कैच देकर आउट हो गए। दूसरे दिन स्टम्प्स तक श्रीलंका ने अपनी पहली इनिंग में 44 ओवर में 5 विकेट खोकर 154 रन बना लिए थे। मैथ्यूज (54) और परेरा (10) क्रीज पर थे। मैच के दूसरे दिन श्रीलंका के लिए उपुल थरंगा (64) ने शानदार फिफ्टी लगाई। उन्होंने गुणाथिलके के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 61 रन की पार्टनरशिप की। वहीं मैथ्यूज के साथ मिलकर चौथे विकेट के लिए 57 रन जोड़े। भारत की ओर से दूसरे दिन मो. शमी सबसे सफल बॉलर रहे, जिन्होंने 2/30 विकेट लिए। वहीं उमेश यादव और रविचंद्रन अश्विन को 1-1 विकेट मिला।