Share On

कानपुर में पहला टी-20 मैच आज, ऋषभ पंत सहित युवा खिलाड़ियों पर टिकीं निगाहें

  • 26/01/2017

कानपुर। इंग्‍लैंड के खिलाफ टेस्‍ट और वनडे सीरीज में विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम इंडिया के शानदार प्रदर्शन के बीच दोनों देशों के बीच टी20 सीरीज गुरुवार से कानपुर में शुरु हो रही है, टी20 सीरीज का पहला मुकाबला कानपुर के ग्रीन पार्क में खेला जाएगा। भारत ने वनडे श्रृंखला की तुलना में टी20 के लिये अलग टीम का चयन किया है। टी20 टीम में ऋषभ पंत, मनदीप सिंह, यजुवेंद्र चहल, परवेज रसूल, सुरेश रैना और आशीष नेहरा छह ऐसे खिलाड़ी शामिल हैं जो वनडे टीम का हिस्सा नहीं थे।

स्टार स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा को विश्राम दिया गया है जिससे आफ स्पिनर रसूल और अनुभवी अमित मिश्रा को मौका मिल सकता है। मिश्रा वनडे टीम का हिस्सा थे लेकिन उन्हें कोई मैच खेलने का मौका नहीं मिला। जिन खिलाड़ियों को अभी टीम में अपनी जगह पक्की करनी है उनमें से सबसे अधिक ध्यान 19 वर्षीय ऋषभ पंत ने खींचा है। उन्होंने घरेलू सत्र में शानदार प्रदर्शन के दम पर पहली बार राष्ट्रीय टीम में जगह बनायी है। दिल्ली के इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने पिछले साल अंडर-19 विश्व कप में शानदार प्रदर्शन किया था और उसके बाद से उनके करियर का ग्राफ लगातार उपर चढ़ता जा रहा है। टी20 टीम में शिखर धवन के नहीं होने से लोकेश राहुल के साथ पंत और मनदीप सिंह में से किसी एक को पारी का आगाज करने के लिये चुना जा सकता है। पंत की हाल की फार्म को देखते हुए उन्हें नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। ऋषभ पंत भारत के सबसे युवा और प्रतिभावान क्रिकेटरों में से एक हैं। वह बेहद ही सामान्य परिवार से आते हैं और अन्य कठिनाइयों का सामना करने के बाद इस मुकाम पर पहुंचे हैं।मनदीप इंग्लैंड के खिलाफ पहले अभ्यास मैच में कुछ खास नहीं कर पाये थे जबकि पंत ने दूसरे अभ्यास मैच में 36 गेंदों पर 59 रन की पारी खेली थी। कप्तान विराट कोहली, युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी का तीसरे, चौथे और पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करना तय है और ऐसे मे रैना को छठे नंबर के लिये मनीष पांडे की कड़ी चुनौती का सामना करना होगा जो वनडे श्रृंखला में भी बाहर ही बैठे रहे थे। रैना पर इसलिए भी दबाव है क्योंकि केदार जाधव जैसे खिलाड़ी लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। जाधव ने वनडे श्रृंखला में अच्छी बल्लेबाजी की और उन्हें मैन आफ द सीरीज चुना गया था। यह देखना दिलचस्प होगा कि कोहली किस तरह के गेंदबाजी आक्रमण के साथ उतरना चाहेंगे। तेज गेंदबाजी के आलराउंडर हार्दिक पंड्या ने वनडे श्रृंखला में अपना प्रभाव छोड़ा था और उनकी उपस्थिति से टीम में संतुलन भी पैदा होता है। तेज गेंदबाजी का जिम्मा जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और उम्रदराज नेहरा पर रहेगा जिन्होंने पिछले साल आईपीएल के बाद प्रतिस्पर्धी क्रिकेट नहीं खेली है। नेहरा ने इसके बाद घुटने का आपरेशन करवाया था। भारत को स्पिन विभाग में सोच समझकर चयन करना होगा। देखना होगा कि कोहली कामचलाउ स्पिनरों पर भरोसा दिखाते हैं या दो विशेषज्ञ स्पिनरों को लेकर उतरते हैं। उनके पास मिश्रा और चहल के रूप में लेग स्पिन के दो अच्छे विकल्प हैं जबकि रसूल टीम में शामिल एकमात्र आफ स्पिनर हैं। ओस से बचने के लिये मैच शाम चार बजकर 30 मिनट पर शुरू होगा और उम्मीद की जा रही है कि वनडे श्रृंखला की तरह इसमें भी रनों का अंबार लगेगा। कोलकाता में तीसरे और अंतिम वनडे में जीत से इंग्लैंड का मनोबल बढ़ा है हालांकि उसने टेस्ट श्रृंखला 0-4 और वनडे श्रृंखला 1-2 से गंवायी। टी20 श्रृंखला भी हालांकि वनडे की तरह काफी करीबी रहने की संभावना है। इंग्लैंड को सलामी बल्लेबाज जैसन राय से अच्छी शुरूआत की उम्मीद रहेगी जिन्होंने लगातार तीन अर्धशतक जमाये थे। कप्तान इयोन मोर्गन ने भी फार्म में वापसी कर ली है। उनके तेज गेंदबाज जैक बॉल और डेविड विली ने टुकड़ों में अच्छा प्रदर्शन किया है और मोर्गन उनसे निरंतर ऐसे प्रदर्शन की उम्मीद कर रहे होंगे। भारत के युवा बल्लेबाजों के लिये इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों का सामना करना चुनौती होगा। टीमें इस प्रकार हैं:- भारत : विराट कोहली : कप्तान :, लोकेश राहुल, रिषभ पंत, मनदीप सिंह, युवराज सिंह, महेंद्र सिंह धोनी, सुरेश रैना, मनीष पांडे, हार्दिक पंड्या, परवेज रसूल, अमित मिश्रा, यजुवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार, आशीष नेहरा और जसप्रीत बुमराह में से। इंग्लैंड : इयोन मोर्गन : कप्तान :, मोईन अली, जैक बॉल, सैम बिलिंग्स, जोस बटलर, लियाम डॉसन, जोनी बेयरस्टॉ, क्रिस जोर्डन, टाइमल मिल्स, लियाम प्लंकेट, आदिल रशीद, जो रूट, जैसन राय, बेन स्टोक्स और डेविड विली में से।