Share On

75 रनों से इंग्‍लैंड को हराकर भारत ने टी-20 सीरिज अपने नाम की

  • 01/02/2017

बंगलूरू। यजुवेंद चहल ने शानदार बालिंग की बदौलत भारत ने इंग्‍लैड को टी-20 के फाइनल में 75 रनों से हराकर सीरिज अपने नाम कर लिया। 14वें ओवर में लगातार गेंदों पर दो विकेट झटके. पहले उन्होंने कप्तान मॉर्गन (40) को ऋषभ पंत के हाथों कैच कराया उसके बाद जमे हुए रूट को एलबीडब्ल्यू कर दिया. इसके बाद पंद्रहवें ओवर में बुमराह ने बटलर (0) पैवेलियन लौटाया. मोईन अली (2 ) भी चहल के शिकार हुए।

विकेटों का पतझड़ शुरु हो गया था. चहल ने स्टोक्स (2) लौटाया. चहल ने छठा विकेट जॉर्डन का लिया. बुमराह ने नौवें विकेट के रूप में पल्ंकेट को लौटाया. इससे पहले अमित मिश्रा ने दूसरे सलामी बल्लेबाज जेसन रॉय (32) को पैवेलियन लौटाया. धोनी ने विकेट के पीछे कैच लपका. इससे पहले सैम बिलिंग्स बिना खाता खोले ही आउट हो गए. उन्हें यजुवेंद्र चहल ने रैना के हाथों लपकवाया. इंग्लैंड ने 16.1 ओवर में 9 विकेट खोकर 127 रन बनाए हैं. धोनी-रैना ने 200 के पार पहुंचाया 200 के पार स्कोर पहुंचाने में धोनी और रैना का अहम योगदान रहा. दोनों ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए अर्धशतक जड़ दिए. धोनी ने 36 गेंदों पर 56 रन बना डाले, जबकि सुरेश रैना ने 45 गेंदों में 63 रन बनाए. वहीं युवराज 10 गेंदों में तेज 27 रन बनाकर आउट हुए. इससे पहले भारत की एक बार फिर खराब शुरुआत हुई. कप्तान विराट कोहली (2) रन आउट हो गए. इसके बाद लोकेश राहुल (22) को बेन स्टोक्स ने बोल्ड कर दिया. मोर्गन ने टॉस जीतकर भारत को बल्लेबाजी दी बंगलुरु के चिन्नास्वामी स्टेडियम में इंग्लैंड के कप्तान इयोन मॉर्गन ने टॉस जीतकर पहले भारत को बल्लेबाजी के लिए बुलाया. टी-20 सीरीज के निर्णायक मुकाबले में दोनों टीमें आमने-सामने हैं. तीन टी-20 मैचों की सीरीज का यह आखिरी मुकाबला विराट ब्रिगेड के लिए करो या मरो वाला है. दोनों टीमें सीरीज में 1-1 से बराबर हैं. इंग्लिश टीम इस दौर पर 0-4 से टेस्ट और 1-2 से वनडे सीरीज पहले ही गवां चुकी है. और अब टीम इंडिया टी-20 सीरीज जीत कर तीसरी ट्रॉफी पर कब्जा करने के मुहाने पर है. भारतीय टीम में एक परिवर्तन किया गया है. मनीष पांडे की जगह ऋषभ पंत को मौका दिया गया है. इसके साथ ही ऋषभ इंटरनेशनल टी-20 में डेब्यू करेंगे. उधर, इंंग्लिश कप्तान ने लियाम प्लंकेट को टीम में जगह दी है. विराट कारनामे का सुनहरा मौका तीसरा टी-20 जीतने के साथ ही विराट भारत के ऐसे पहले कप्तान बन जाएंगे, जिन्होंने तीनों फॉर्मेट में अपनी कप्तानी में पहली सीरीज जीती हो. विराट ने इससे पहले 2015 में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज और इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज अपने नाम की थी. इंग्लैंड के खिलाफ पहली बार सीरीज जीतने का मौका भारत ने अब तक इंग्लैंड के खिलाफ एक भी द्विपक्षीय टी-20 सीरीज नहीं जीती है. 2012-13 में एक ओर जहां दो मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर रही, वहीं दौर के एक-एक मैच वाले अन्य तीनों सीरीज इंग्लैंड ने जीती। साभार : आजतक