Share On

वर्ल्ड कप में हैट्रिक लगाने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बने रोनाल्डो, ड्रॉ कराकर स्पेन को जीत से रोका

  • 16/06/2018

सोच्ची,16 जून। पुर्तगाल-स्पेन के बीच शुक्रवार रात ओलिंपिक स्टेडियम में ग्रुप बी का मैच 3-3 की बराबरी पर छूटा। पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने इस विश्व कप की पहली हैट्रिक लगाई। वे विश्व कप में हैट्रिक लगाने वाले अपने देश के तीसरे खिलाड़ी और दुनिया के सबसे उम्रदराज फुटबॉलर बन गए। रोनाल्डो ने मैच के चौथे, 44वें और 88वें मिनट में गोल किया। रोनाल्डो की उम्र 33 साल 131 दिन है। वे फुटबॉल विश्व कप में हैट्रिक लगाने वाले दुनिया के सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन गए हैं। उनसे पहले सबसे ज्यादा उम्र में हैट्रिक का रिकॉर्ड नीदरलैंड के रॉब रेनसेनब्रिंक के नाम था। उन्होंने 30 साल 336 दिन की उम्र में 1978 के वर्ल्ड कप में हैट्रिक लगाई थी। फुटबॉल विश्व कप के इतिहास में ये 51वीं हैट्रिक थी। सिर्फ 2006 का विश्व कप ऐसा था, जिसमें एक भी फुटबॉलर हैट्रिक नहीं लगा पाया। इस हैट्रिक के साथ रोनाल्डो के अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल मैचों में कुल 84 गोल हो गए हैं। वे अब हंगरी के फेरेंक पुस्कास के साथ संयुक्त रूप से यूरोप के सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। टर्निंग प्वाइंट: मैच के 87वें मिनट तक स्पेन 3-2 से आगे था। ऐसा लग रहा था कि वो मुकाबला जीत जाएगी। लेकिन, 86वें मिनट में स्पेन के डिफेंडर गेर्राड पीके ने पैर लगाकर रोनाल्डो को गिरा दिया। इसके बाद रेफरी ने पुर्तगाल को फ्री किक दे दी। कप्तान रोनाल्डो ने फ्री कीक को भुनाते हुए 88वें मिनट में गेंद को गोलपोस्ट में डाल दिया। इस गोल से पुर्तगाल ने लगभग हारे हुए मैच में वापसी कर ली और मैच ड्रॉ करा लिया। रोनाल्डो ने पहला गोल पेनाल्टी से किया : मैच की शुरुआत में स्पेन के खिलाड़ी नाचो का पैर लगने से रोनाल्डो गोलपोस्ट एरिया में गिर गए। इस पर रेफरी ने पुर्तगाल को पेनाल्टी दे दी। रोनाल्डो ने इस मौके को भुनाते हुए चौथे मिनट में मैच का पहला गोल किया। स्पेन के लिए डिएगो कोस्टा ने 24वें और 52वें मिनट और नाचो ने 55वें मिनट में गोल किया। दोनों टीमों ने मैच के दौरान 3-3 बदलाव किए : दोनों टीमें 2010 के बाद पहली बार आमने-सामने हुईं। स्पेन ने 70वें मिनट में आंद्रे इनिएस्ता की जगह थियागो, 77वें मिनट में डिएगो कोस्टा की जगह इयागो एस्पास और 86वें मिनट में डेविड सिल्वा की जगह लुकस को मैदान पर भेजा। पुर्तगाल ने 68वें मिनट में फर्नांडेज की जगह मारियो, 69वें मिनट में बर्नांडो की जगह करिज्मा और 80वें मिनट में गुएडेज की जगह आंद्रे सिल्वा को मैदान पर उतारा।